Friday, June 14, 2024
धर्मतनाव से मुक्ति के लिए अध्यात्म की और अग्रसर युवा, विदेशियों की...

तनाव से मुक्ति के लिए अध्यात्म की और अग्रसर युवा, विदेशियों की पहली पसंद भारतीय धार्मिक ग्रंथ

पुस्तकें मनुष्य की सबसे अच्छी मित्र होती हैं। इसकी बानगी युवाओं में धार्मिक पुस्तकों को पढ़ने का बढ़ता क्रेज देखने से मिलती है। आभासी दुनिया यानी सोशल मीडिया को छोड़कर अब युवा धर्म, संस्कृति और अध्यात्म को समझने के लिए इनसे जुड़ी पुस्तकें पढ़ रहा हैं। युवा पीढ़ी तनाव से मुक्ति पाने के लिए आभासी दुनिया से दूर होकर अध्यात्म की शरण में जा रही है, और इसके लिए ये पीढ़ी धार्मिक किताबें पढ़ने लगी है। धार्मिक अध्ययन से युवा न केवल तनाव से मुक्त हो रहा है बल्कि वह अपनी धर्म, और संस्कृति का ज्ञान भी प्राप्त कर रहा हैं।

नान फिक्शन पुस्तकों की बढ़ी मांग

बुकसेलर्स के अनुसार फिक्शन की बजाए नॉन फिक्शन पुस्तकें पढ़ने वाले युवाओं की संख्या में बढ़ोतरी हो रही हैं। जयपुर के सी – स्कीम, टोंक रोड, MI रोड और चौड़ा रास्ता स्थित बुक स्टोर्स पर धार्मिक पुस्तकें, सेल्फ हेल्प और बिजनस मैनेजमेंट जैसी पुस्तकों की डिमांड बढ़ी हैं।

धार्मिक पुस्तकों की डिमांड

एक स्थानीय बुक सेलर के अनुसार युवाओं द्वारा गीता प्रेस गोरखपुर, भक्ति वेदांत ट्रस्ट और अड़गड़ानंद जी की गीता की टीका मुख्य तौर पर खरीदी जा रहीं हैं। इसके अलावा सदगुरु, श्री श्री रविशंकर से जुड़ी पुस्तके भी युवाओं में रुचि का विषय हैं। वहीं अगर पौराणिक पुस्तकों की बात करें तो अमित त्रिपाटी, देवदत्त पटनायक और विवेक अग्रवाल द्वारा लिखी पुस्तके भी युवाओं में काफी प्रचलित हैं।

बचपन से ही पसंद हैं पुस्तके पढ़ना

जयपुर के  सीकर रोड पर रहने वाली शिवानी खेरे बताती हैं कि उन्हें बचपन से ही पुस्तकें पढ़ने का शौक हैं। शिवानी बताती हैं कि वो अलग – अलग प्रकार की पुस्तके पढ़कर अब स्वयं भी लिखने लगी हैं, और एक राइटर हैं। वो बताती हैं कि उनके घर में 500 से भी अधिक पुस्तके हैं।

स्पेन के लोगों को आई भारतीय संस्कृति पसंद

स्पेन निवासी पाबलो और एंड्रिया ने कहा कि हमें धार्मिक किताबे बहुत पसंद हैं, हमने जयपुर से करीब 25 धार्मिक किताबे खरीदी हैं। भारतीय संस्कृति के बारे में बहुत सुना हैं, इसलिए इसे समझने के लिए हमने रामायण, बुद्धा, वेद और कॉमिक्स खरीदी।

राम पर आधारित कॉमिक्स की बढ़ी मांग

युवाओं में धार्मिक पुस्तकों के बढ़ते रुझान को देखते हुए प्रकाशको ने कॉमिक्स के साथ इन पुस्तकों का इनोवेशन किया हैं। जिससे और युवाओं में पुस्तकें पढ़ने की और अधिक रुचि पैदा हो रहीं हैं। हिंदी और अंग्रेजी भाषा में छपने वाली ये कॉमिक्स रामायण, गीता, वेद पुराण और धार्मिक ग्रंथों पर आधारित हैं। इनकी विदेशों में भी डिमांड बढ़ी हैं। इनमें भी सर्वाधिक राम पर आधारित कॉमिक्स की मांग बढ़ी हैं।

बच्चों में लोकप्रिय कॉमिक्स

एक बुकसेलर की माने तो बच्चों में जापान की संस्कृति पर आधारित मांगा जैपनिश कॉमिक्स और युवाओं के बीच में इकिगाई पुस्तक सर्वाधिक लोकप्रिय हैं। इसके साथ – साथ रामायण, महाभारत, स्वामी विवेकानन्द इत्यादि पर आधारित कॉमिक्स भी बच्चों में लोकप्रिय हैं।

  • लेखक- ज्योतिरादित्य

यह भी पढ़ें

Trending