मुंबई में हुए 26 हमले का वो काला दिन जिसे आज भी याद करते ही दिल दहल उठता है । 26 नवंबर 2008 का वो हादसा आज भी देश भूल नहीं पाया है । पाकिस्तान से आए 10 आतंकियों ने मशहूर होटल ताज के साथ शहर की कई जगहों को अपना निशाना बनाया था जिसमें कई लोग मारे गए थे जिनमें पुलिस और सेना के जवान भी शामिल थे ।
इसी हमले में मौत के मुंह ने निकल आए लोगों में एक इजराइली बच्चा भी था जिसका नाम है मोशे होत्जबर्ग दुख की बात यह है कि इसी हमले में मोशे ने अपने माता-पिता को खो दिया था ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मोशे के बार मित्सवा समारोह के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भावात्मक खत लिखते हुए कहा कि उसकी कहानी ‘चमत्कार’ जैसी, है. जो सभी को ‘प्रेरित’ करती है । मोशे को लिखे खत में पीएम मोदी ने कहा, ‘आप इस महत्वपूर्ण बदलाव के दौर से गुजर रहे हैं और अपने जीवन यात्रा में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर पार कर रहे हैं । गौरतलब है कि जुलाई 2017 में अपनी इजराइल की यात्रा के दौरान पीएम मोदी ने मोशे से मुलाकात भी की थी ।


Leave a Reply

Your email address will not be published.