7 मई – भारत व बांग्लादेश के राष्ट्रगान के रचयिता, नोबेल पुरस्कार विजेता Rabindranath Tagore(रवीन्द्रनाथ टैगोर) Jayanti 2020, Images, Shubhkamnaye, Suvichar, Quotes, Biography in Hindi

एक विश्वविख्यात कवि, साहित्यकार, कहानीकार, संगीतकार, नाटककार, निबंधकार और दार्शनिक थे। वे अकेले ऐसे भारतीय साहित्यकार हैं जिन्हें नोबेल पुरस्कार मिला है।

Rabindranath Tagore Short Biography in Hindi

पूरा नाम- रबीन्द्रनाथ ठाकुर
अन्य नाम- रवीन्द्रनाथ टैगोर, गुरुदेव
जन्म- 7 मई 1861
मृत्यु- 7 अगस्त 1941
जन्मस्थान- कोलकाता
पिता- श्री देवेन्द्रनाथ टैगोर
माता- श्रीमति शारदा देवी
पत्नी- श्रीमती मृणालिनी देवी
भाषा- बंगाली, इंग्लिश
उपाधि- लेखक और चित्रकार
प्रमुख रचना- राष्ट्र-गान (जन गण मन) और बांग्लादेश का राष्ट्र-गान (आमार सोनार बांग्ला), ‘गीतांजलि’,
पुरुस्कार- नोबोल पुरुस्कार

रविंद्रनाथ टैगोर नोबेल पुरस्कार पाने वाले प्रथम एशियाई और साहित्य में नोबेल पाने वाले पहले गैर यूरोपीय भी थे। वह दुनिया के अकेले ऐसे कवि हैं जिनकी रचनाएं दो देशों का राष्ट्रगान हैं – भारत का राष्ट्र-गान ‘जन गण मन’ और बाँग्लादेश का राष्ट्रीय गान ‘आमार सोनार बाँग्ला’। गुरुदेव के नाम से भी प्रसिद्ध रविंद्रनाथ टैगोर ने बांग्ला साहित्य और संगीत को एक नई दिशा दी। उन्होंने बंगाली साहित्य में नए तरह के पद्य और गद्य और बोलचाल की भाषा का भी प्रयोग किया। रविंद्रनाथ टैगोर ने भारतीय सभ्यता की अच्छाइयों को पश्चिम में और वहां की अच्छाइयों को यहाँ पर लाने में प्रभावशाली भूमिका निभाई।

रवीन्द्रनाथ टैगोर (Rabindranath Tagore) : Quotes, Suvichar, Anamol Vachan

हम यह प्रार्थना न करें कि हमारे ऊपर समस्या न आयें बल्कि यह प्रार्थना करे की हम उनका सामना निडर हो करे।

प्यार अधिकार का दावा नहीं करता बल्कि यह आजादी देता है।

हम दुनिया में तब जीते हैं जब हम इस दुनिया से प्रेम करते हैं।

उच्चतम शिक्षा वो नहीं जो हमें सिर्फ जानकारी देती है बल्कि वह है जो हमारे जीवन को सफलता का एक नया आयाम देती है।

आस्था वह चिड़िया है जो अँधेरा होने पर भी उजाले को महसूस करती है।

किसी बच्चे के ज्ञान को अपने ज्ञान तक सीमित मत रखिये क्योंकि वह किसी और समय में पैदा हुआ है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.